गुरुवार, 2 दिसंबर 2010

अफसरों पर लगाम: एक सार्थक काम

लोकप्रिय समाचारपत्र नईदुनिया, रायपुर में आजके अंक मे प्रकाशित लेख. अखबार वेब पर भी उपलब्ध है.

5 Comments:

Dr (Miss) Sharad Singh said...

अच्छा कटाक्ष है। बधाई!

Dr Varsha Singh said...

आपके व्यंग हमेशा चुटीले होते हैं, यह भी ग़ज़ब का है।

Dr Varsha Singh said...
इस टिप्पणी को लेखक द्वारा हटा दिया गया है.
Ramesh Sharma said...

ssaarthak aur sateek , bebaak aur bedhadak.........

'उदय' said...

... aainaa dikhaatee abhivyakti ... behatreen bhaav !!!

सुनिए गिरीश पंकज को