शुक्रवार, 25 मार्च 2011

गोचर भूमि बचाना, यानी छत्तीसगढ़ को बचाना

नईदुनिया, रायपुर के २५ मार्च के अंक में प्रकाशित लेख..

1 Comment:

ललित शर्मा said...

गाँव में गोचर भूमि ही बची है जिस पर कब्ज़ा करने का षड़यंत्र भूमाफिया कर रहा है. अगर गोचर भूमि और गोठान ख़त्म हो जायेंगे तो पशुधन के लिए बहुत कठिन वक्त आ जायेगा.गोचर भूमि और गोठान बचाना बहुत जरुरी है.

सुनिए गिरीश पंकज को